Month: October 2015

Inspirational Shayari – बात तो सिर्फ जज़्बातों की है वरना

बात तो सिर्फ जज़्बातों की है वरना,
मोहब्बत तो सात फेरों के बाद भी नहीं होती………..


Inspirational Shayari – सूरज ढला तो कद से ऊँचे हो गए साये

सूरज ढला तो
कद से ऊँचे हो गए साये,
कभी पैरों से रौंदी थी,
यहीं परछाइयां हमने..