Ahmad Faraz Hindi Shayari On New Year When Missing Someone Special

आज इक और बरस बीत गया उस के बग़ैर,

जिस के होते हुए होते थे ज़माने मेरे

~अहमद फ़राज़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *