DilSeDilKiTalk

Baatein Dil Ki Always Rock

Loading...

Bashir Badr Ghazal – पास रहकर, जुदा सी लगती है

पास रहकर, जुदा सी लगती है ,
जिंदगी बे, वफा सी लगती है…2

मै तुम्हारे, बगैर भी जी लूँ ,
ये दुआ बद दुआ, सी लगती है

नाम उसका, लिखा है आँखों में,
आसुओं की, ख़ता, सी लगती है

वो भी इश, तरफ से गुज़रा है ,
ये ज़मी आसमां, सी लगती है

प्यार करना, भी जुर्म है शायद ,
आज दुनिया, खफ़ा, सी लगती है

पास रहकर, जुदा, सी लगती है ,
जिंदगी बे, वफा सी लगती है …2

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...
DilSeDilKiTalk © 2015