DilSeDilKiTalk

Baatein Dil Ki Always Rock

Loading...
Loading...

Category: Chahat Shayari

Chahat Shayari In Hindi – मैंने तो एक ही शख्स


मैंने तो एक ही शख्स पर चाहत ख़त्म कर दी,
अब मुहब्बत किसे कहते है मालूम नहीं..!!

Chahat Shayari In Hindi – कैसे भूलेगा वो मेरी बरसों


कैसे भूलेगा वो मेरी बरसों की चाहत को
दरिया अगर सूख भी जाये तो भी रेत से नमी नहीं जाती

Chahat Shayari In Hindi – इक मेरी ही चाहत से

इक मेरी ही चाहत से परहेज है उनको
न जाने किस हकीम से दवा लेते हैं वो।।


Loading...

Chahat Shayari In Hindi – वो छा गये है कोहरे


वो छा गये है कोहरे की तरह मेरे चारो तरफ,
न कोई दूसरा दिखता है ना देखने की चाहत है

Chahat Shayari In Hindi – अपनों की चाहत में मिलावट


अपनों की चाहत में मिलावट थी इस क़दर..
तंग आकर दुश्मनों को मनाने चले गए..

Page 1 of 212
Loading...
DilSeDilKiTalk © 2015