Category: Dard Shayari

Dard Shayari – मेरे आसुंओ के दाम तू चुका नहीं पायेगी

मेरे आसुंओ के दाम तू चुका नहीं पायेगी..,
तू मेरी मौहब्बत न ले सकी तो दर्द क्या खरीदेगी….!!


Dard Shayari – तुम्हे क्या पता किस दर्द मे हूँ मैं


तुम्हे क्या पता, किस दर्द मे हूँ मैं..
जो लिया नही, उस कर्ज मे हूँ मैं..!

Dard Shayari – एक दर्द जो था सिगरेट की तरहा

एक दर्द जो था सिगरेट की तरहा . . .

मेने सबसे छुपाके पिया है . . . !


Dard Sher O Shayari – अगर मुहब्बत की हद नहीं कोई


अगर मुहब्बत की हद नहीं कोई,
तो फिर दर्द का हिसाब क्यों रखूँ…