Category: Gair Shayari

Gair Shayari In Hindi – कुछ गैर ऐसे मिले जो

कुछ गैर ऐसे मिले जो मुझे अपना बना गए…..
कुछ अपने ऐसे निकले जो गैर का मतलब बता गए.


Gair Shayari In Hindi – जब तक तुम्हें न देखूं!

जब तक तुम्हें न देखूं!
दिल को करार नहीं आता!
अगर किसी गैर के साथ देखूं!
तो फिर सहा नहीं जाता!


Gair Shayari In Hindi – भले ही किसी गैर का


भले ही किसी गैर का जागीर था वो,
पर मेरे ख्वाबों की भी तस्वीर था वो,
मुझे मिलता तो कैसे मिलता,
किसी और की हिस्से का तक़दीर था वो