DilSeDilKiTalk

Baatein Dil Ki Always Rock

Category: Khamoshi Shayari

Khamoshi Shayari – जुबाँ न भी बोले तो मुश्किल नहीं

जुबाँ न भी बोले तो मुश्किल नहीं l
फिक्र तब होती है,
जब खामोशी भी बोलना छोड़ दें l


Advertisements

Khamoshi Shayari – तेरी ख़ामोशी अगर तेरी मज़बूरी है


Advertisements

तेरी ख़ामोशी, अगर तेरी मज़बूरी है,
तो रेहने दे इश्क़ कोन सा जरुरी है.

Khamoshi Shayari – तू मुझ में पहले भी थी


Advertisements

तू मुझ में पहले भी थी,
तू मुझ में अब भी है…
पहले मेरे लफ़्जों में थी,
अब मेरी खामोशियों में है..

loading...
Loading...
Loading...
DilSeDilKiTalk © 2015