Chahat Shayari In Hindi – इक मेरी ही चाहत से

इक मेरी ही चाहत से परहेज है उनको
न जाने किस हकीम से दवा लेते हैं वो।।

2 Comments

Add a Comment

Leave a Reply