Heart Touching Shayari On Usool And Zindagi – Main Katra Hi Raha

कल के नौसखिए..सिकंदर हो गए
हल्की हवा के झोंके..बवंडर हो गए!
मै लड़ता रहा..उसूलों की पतवार थामें
मै कतरा ही रहा..लोग समन्दर हो गए