Hichki Shayari In Hindi – कही बैठी वो मेरा जिक्र

कही बैठी वो मेरा जिक्र कर मुस्कुरा रही होगी..
ये हिचकी शाम से यूँ ही तो नही आ रही होगी..

Leave a Reply