Hindi Shayari – गर मेरी चाहतों के मुताबिक

गर मेरी चाहतों के मुताबिक
ज़माने की हर बात होती,
तो बस मैं होता..तुम होती..
और सारी रात बरसात होती ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *