Hindi shayari – मेरी़ ना रात कटती है

मेरी़ ना रात कटती है , ना ज़िन्दगी वो पगली

मेरे वक़्त को इतना धीमा कर गयी.

Leave a Reply