Hindi Shayari – मेरी रूह तरसती है

मेरी रूह तरसती है तेरी खुशबू के लिए ,

तुम कहीं और जो महको तो बुरा लगता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *