Inspirational Hindi Shayari – लौट आता हूँ वापस घर की तरफ

लौट आता हूँ वापस घर की तरफ…
हर रोज़ थका-हारा, आज तक समझ नहीं आया की
जीने के लिए काम करता हूँ या काम करने के लिए जीता हूँ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *