Inspirational Shayari – अजीब है न हमारे देश का संविधान

अजीब है न हमारे देश का संविधान…
गीता पर हाथ रखकर कसम खिलायी जाती है सच बोलने के लिये..
मगर गीता पढ़ाई नहीं जाती सच को जानने के लिये..!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *