Inspirational Shayari – झूठ बोलते थे कितना फिर भी सच्चे थे हम

झूठ बोलते थे कितना,, फिर भी सच्चे थे हम..
ये उन दिनों की बात है,, जब बच्चे थे हम..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *