Inspirational Sher O Shayari – प्रीत न कीजिये पंछी जैसी, जल सूखे उड जाय

प्रीत न कीजिये पंछी जैसी, जल सूखे उड जाय!
प्रीत तो कीजिये मछली जैसी, जल सूखे मर जाय!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *