Intezaar Shayari In Hindi – कोई मिलता ही नहीं हमसे

कोई मिलता ही नहीं हमसे हमारा बनकर,
वो मिले भी तो एक किनारा बनकर,
हर ख्वाब टूट के बिखरा काँच की तरह,
बस एक इंतज़ार है साथ सहारा बनकर !!

Leave a Reply