Jazbaat Shayari In Hindi – अलफ़ाज़ गिरा देते हैं जज़्बात

अलफ़ाज़ गिरा देते हैं जज़्बात की क़ीमत
जज़्बात को लफ़्ज़ों में न ढाला करे कोई

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *