Mohabbat Shayari – अजीब खेल है ये मोहब्बत का

अजीब खेल है ये मोहब्बत का;
किसी को हम न मिले, कोई हमें ना मिला!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *