Mohabbat Shayari – “अपनी जिद को अंजाम पर पहुँचा दू तो क्या

“अपनी जिद को अंजाम पर पहुँचा दू तो क्या…,,,,
तू तो मिल जायेगी पर तेरी मोहब्बत का क्या….???”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *