Munawwar Rana Ghazal – Jo Khata Maine Nahi Ki Us Pe Pachhtana Pada

जो खता मैने नहीं की उस पे पछताना पड़ा
बेवफाई आपने की मुझको शरमाना पड़ा

इक जरा सी बात पर उसने मुझे ठुकरा दिया
मुझको जिसके वास्ते दुनिया को ठुकराना पड़ा

ज़िंदगी के रास्ते मे जब भी मैखाने मिले
तेरी आँखों की कसम खा कर चले आना पड़ा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *