Muskurahat Shayari In Hindi – अगर बिछड़ना जरूरी है दोस्त

अगर बिछड़ना जरूरी है दोस्त मेरे
तो कुछ इस तरह से बिछड़ मुझसे
कि जब भी याद करें तू मुझको मैं तुझको
इक मुस्कराहट सी आ जाए मुख पे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *