Naraaj Shayari In Hindi – मैं कैसे मनाउ उसे वो

मैं कैसे मनाउ उसे वो नादान है बहूत,,,
नाराज़ मुझसे होकर खुद भी परेशान है बहुत

Leave a Reply