Naraaj Shayari In Hindi – यहाँ सब खामोश हैं कोई

यहाँ सब खामोश हैं, कोई आवाज़ नहीं करता।
बोल के सच, कोई किसी को नाराज़ नहीं करता।

Leave a Reply