Sad Khamoshi Shayari In Hindi – चाह कर भी इश्क़-ए-इज़हार जो

चाह कर भी इश्क़-ए-इज़हार जो हम कर ना सके,
हमारी ख़ामोशी पढ़ लो तुम और क़ुबूल कर लो हमें


Izhaar Shayari In Hindi – वो सज़दा ही क्या….जिसमे सर

वो सज़दा ही क्या….जिसमे सर उठाने का होश रहे….!!
इज़हार ए इश्क़ का मजा तब…जब मैं बेचैन रहूँ और तू ख़ामोश रहे….!!