Prerak Sher O Shayari – रात तो वक्त की पाबंद हैं ढल जायेगी

रात तो वक्त की पाबंद हैं ढल जायेगी,
देखना ये हैं चिरागो का सफ़र कितना हैं!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *