Raat Shayari In Hindi – अपनी दुनिया के बेरंग अंधेरों

अपनी दुनिया के बेरंग अंधेरों के लिए
रात भर जाग कर….
एक चाँद चुराया है मैंनें….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *