Raat Shayari In Hindi – पाया भी उनको खो भी

पाया भी उनको, खो भी दिया, चुप भी हो रहे
इक मुख़्तसर सी रात में सदियाँ गुज़र गईं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *