Raat Shayari In Hindi – मेरी पलकों का अब नींद

मेरी पलकों का अब नींद से कोई ताल्लुक नही रहा,
मेरा कौन है ये सोचने में रात गुज़र जाती है…!!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *