Romantic Hindi Shayari – ज़रा “क़रीब” आओ तो शायद हमे समझ पाओ

ज़रा “क़रीब” आओ.. तो शायद हमे समझ पाओ..
यह “दूरियां” तो सिर्फ गलत फेहमियां बढाती हैं.. !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *