Sad Poetry In Hindi 2 Lines – तलाशी लेकर मेरे हाथों की, क्या पा लोगे तुम

तलाशी लेकर मेरे हाथों की, क्या पा लोगे तुम बोलो…
बस..
चंद लकीरों में छिपे, अधूरे से कुछ किस्से हैं..!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *