Sad Shayari In Two Lines – वो कहती है कि पत्थरों में जान नहीं होती

वो कहती है कि, पत्थरों में जान नहीं होती
शायद उसे खुद के होने पर यकीन नहीं है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *