Sharaab Shayari – कल बड़ा शोर था मयखाने में

कल बड़ा शोर था मयखाने में,
बहस छिड़ी थी जाम कौन सा बेहतरीन है..
हमने तेरे होठों का ज़िक्र किया,
और बहस खतम हुयी..!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *