Sharaab Shayari – बैठे हैं हम पीने आज सालों बाद

बैठे हैं हम पीने आज सालों बाद,
होश से कह दो मेरा उससे कोई वास्ता नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *