Shikayat Shayari In Hindi – सरेआम ये शिकायत है मुझे

सरेआम ये शिकायत है मुझे ज़िन्दगी से,
क्यों मिलता नहीं मिजाज मेरा किसी से…

Leave a Reply