Very Sad Shayari In 2 Lines – गुनाह है गर इश्क तो…………… कबूल है मुझे हर सज़ा

गुनाह है गर इश्क तो……………
कबूल है मुझे हर सज़ा इश्क की…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *