Anmol Vachan In Hindi Font – अगर हम स्वयं ही अपना राज़ गुप्त नहीं रख सकते


“अगर हम स्वयं ही अपना राज़ गुप्त नहीं रख सकते
तो किसी और से इसे गुप्त रखने की अपेक्षा कैसे कर सकते हैं?”

Leave a Reply