Attitude Shayari Two Lines – मैं तेरे नसीब कि बारिश नहीं जो तुजपे बरस जाऊं


मैं तेरे नसीब कि बारिश नहीं जो तुजपे बरस जाऊं!
तुजे तक़दीर बदलनी होगी मुझे पाने के लिए!

Leave a Reply