Gair Shayari In Hindi – मैंने कब कहा तू मुझे


मैंने कब कहा तू मुझे गुलाब दे
या फिर अपनी मोहब्बत से नवाज़ दे,
आज बहुत उदास है मन मेरा
गैर बनके ही सही तू बस मुझे आवाज़ दे

Gair Shayari In Hindi – कुछ गैर ऐसे मिले जो

कुछ गैर ऐसे मिले जो मुझे अपना बना गए…..
कुछ अपने ऐसे निकले जो गैर का मतलब बता गए.

Gair Shayari In Hindi – जब तक तुम्हें न देखूं!

जब तक तुम्हें न देखूं!
दिल को करार नहीं आता!
अगर किसी गैर के साथ देखूं!
तो फिर सहा नहीं जाता!

Gair Shayari In Hindi – वो गैर हो


वो गैर हो चुके हैं , जमाने को खबर है .. !
हम सिर्फ उसी के हैं , मगर वो बेखबर है .. !

1 2