Jigar Moradabadi Shayari 2 Line Mein – Hosla Dene Wali Hindi Poetry


अपना ज़माना आप बनाते हैं अहल-ए-दिल
हम वो नहीं कि जिन को ज़माना बना गया

– जिगर मुरादाबादी

Bahut Hi Lajwab Hindi Ghazal Shayari – तो पेड़ पे पत्थर भी आयेंगे

रिश्ते जताने लोग मेरे घर भी आयेंगे,

                फल आये है तो पेड़ पे पत्थर भी आयेंगे..

जब चल पड़े हो सफ़र को तो फिर हौसला रखो,

                सहरा कहीं, कहीं पे समंदर भी आयेंगे..

कितना गरूर था उसे अपनी उड़ान पर,

                उसको ख़बर न थी कि मेरे पर् भी आयेंगे..

Ahmed Faraz Ghazal Lyrics

मशहूर हो गया हूँ तो ज़ाहिर है दोस्तो,

                इलज़ाम सौ तरह के मेरे सर भी आयेंगे..

थोड़ा सा अपनी चाल बदल कर चलो ‘मिज़ाज’,

                सीधे चले तो पीठ में खंज़र भी आयेंगे..

Bashir Badr Ghazal Lyrics

Wafa Shayari In Hindi – ना रख उम्मीद -ए -वफ़ा

ना रख उम्मीद -ए -वफ़ा किसी परिंदे से ‘इक़बाल’,
जब पर निकल आते हैं, तो अपने भी आशियाँ भूल जाते हैं !!

Naraaj Shayari In Hindi – दोस्त नाराज़ हो गए कितने


दोस्त नाराज़ हो गए कितने
इक ज़रा आइना दिखाने में

1 2 3 30