Most Romantic 2 Lines – Chandni Raat Bankar Mila Karo


हक़ीक़त ना सही तुम ख़्वाब बन कर मिला करो,
भटके मुसाफिर को चांदनी रात बनकर मिला करो।

Khwab Shayari – बिछङकर फिर मिलेगें यकिन कितना था

बिछङकर फिर मिलेगें यकिन कितना था !!!!
मेरा ख्वाब ही सही मगर हसिन कितना था !!!!

Khwab Shayari – सुबह टुकड़े मिले थे कुछ तकिये के नीचे

सुबह टुकड़े मिले थे कुछ तकिये के नीचे…..
ख्वाब थे जो रात को टूटे थे…..

Khwab Shayari – सुबह उठते ही तेरे जिस्म की खुशबु आई


सुबह उठते ही तेरे जिस्म की खुशबु आई,
शायद रात भर तूने मुझे खवाब मे देखा है…

1 2 3