Dard Bhari Hindi Shayari – रूह को अपनी करके एक तेरे हवाले


रूह को अपनी करके एक तेरे हवाले
एक जिस्म लिए सारे ज़माने में घूमता हूँ

Leave a Reply