Dil Shayari – दिल के जज्बातों की हिफाजत करें भी तो कैसे?


दिल के जज्बातों की हिफाजत करें भी तो कैसे….?
महफूज तो धड़कन भी नहीं होती सीने में….!

Leave a Reply