Ehsaas Shayari – भुकम्प सा है दिल की गलियो मे


भुकम्प सा है दिल की गलियो मे!!!
शायद तेरे एहसास गुज़रे है इधर से!!!

Leave a Reply