Hasrat Shayari – जितनी हसरत थी उसे पाने की


जितनी हसरत थी, उसे पाने की…
आज..
उतनी ही हसरत है, उसे भुलाने की…!

Leave a Reply