Inspirational Shayari – अनकहे शब्दो के बोझ से थक जाता हुँ कभी-कभी


अनकहे शब्दो के बोझ से थक जाता हुँ कभी-कभी…!!!!!
पता नही खामोश रहना मजबुरी है या संमझदारी…..!!

Leave a Reply