Ishq Shayari – “यकीनन” मुझे आज भी इश्क है तुमसे


“यकीनन” मुझे आज भी इश्क है तुमसे।
बस अब बयाँ करने की आदत नही रही।

Leave a Reply