Khwab Shayari – सुबह उठते ही तेरे जिस्म की खुशबु आई


सुबह उठते ही तेरे जिस्म की खुशबु आई,
शायद रात भर तूने मुझे खवाब मे देखा है…

Leave a Reply