Missing You Shayari – तुम हकीक़त हो या फिर कोई फरेब


तुम हकीक़त हो
या फिर कोई फरेब…
ना दिल से निकलते हो..
ना ज़िँदगी मेँ आते हो.!!

Leave a Reply